Friday, June 7, 2013

एक मैं और एक तू...

यहाँ आपको मिलेंगी सिर्फ़ अपनों की तस्वीरें जिन्हें आप सँजोना चाहते हैं यादों में.... ऐसी पारिवारिक तस्वीरें जो आपको अपनों के और करीब लाएगी हमेशा...
आप भी भेज सकते हैं आपके अपनेबेटे/बेटी/नाती/पोते या परिवार के किसी सदस्य के साथ आपकी तस्वीर उनका नाम और आपसे रिश्ता बताते हुए ........
मेरे मेल आई डी- archanachaoji@gmail.com पर, साथ ही आपके ब्लॉग की लिंक ......बस शर्त ये है कि स्नेह झलकता हो तस्वीर में.....
 आज की तस्वीर में सागर नाहर जी हैं अपनी श्रीमती जी निर्मला नाहर जी के साथ -- 

मिलनसार  सागर जी की खूबी है कि इनके पास कई भाषाओं के गीतों का नायाब संग्रह है .... आप एक बार मांगकर तो देखिए आपकी पसन्द का कोई गीत फ़टाफ़ट आपको मिल जायेगा.....मुझे एक गुजराती गीत इनके सौंजन्य से ही मिला था ,और हाँ ये गाते भी बहुत अच्छा है, मेरी एक रिक्वेस्ट पेंडिंग है उनके पास....उन्हें याद हो कि न याद हो..... :-)

 इनके ब्लॉग हैं ---
 ॥दस्तक॥ ,  तकनीक दस्तक , और   गीतों की महफिल

6 comments:

  1. धन्यवाद अर्चना जी।

    ReplyDelete
  2. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (09-06-2013) के चर्चा मंच पर लिंक की गई है कृपया पधारें. सूचनार्थ

    ReplyDelete
  3. अरे , ये पता नही था कि सागर जी इतना अच्च्छा गाते भी हैं, नही तो उनसे जब रूबरू हुआ था तो गुड की पट्टी के साथ साथ गाना भी सुनता. वैसे, भाभी जी गुड की पट्टी बडी अच्छी बनातीं हैं.

    कसम से.....

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको शीघ्र ही सुनवाउंगी...अनुमति मिल गई है उनकी ...

      Delete